Sign Up    /    Login

अपना प्यार मैं दिल्ली में छोड़ आया -1

अपना प्यार

मैं दिल्ली में छोड़ आया

एक थाई नौजवान की ३० दिन की डायरी जो विदेश में बुरी तरह प्‍यार में पागल था

लेखक

धीराविट पी० नात्थागार्न

हिन्‍दी अनुवाद

ए० चारूमति रामदास

मेरी सर्वाधिक प्रिय कविता

अगर मेरे बस में होता,

तो मैं जीवन का हर दिन खुशियों से

भर देता।

मैं किसी को आहत न करता,

किसी को नाराज न करता;

हर कष्‍ट को कम करता,

और कृतज्ञता की शुभाशीषों का आनन्‍द उठाता।

अपना दोस्‍त बुद्धिमानों से चुनता

और पत्‍नी सदाचारियों में से;

और इसलिये धोखे और निष्‍ठुरता के

खतरे से बचा रहता।

(सैम्‍युअल जॉन्‍सनः रास्‍सेलास)

 *Verba dat onmis amor reperitque alimenta morando (Latin): प्‍यार प्रदान करता है शब्‍द और निर्वाह करता है विलम्‍ब पर।


पहला दिन

जनवरी ११,१९८२

अब तक तो TG ९३५ पालम एअरपोर्ट (अब इंदिरा गांधी अन्‍तर्राष्‍ट्रीय एअरपोर्ट) से उड़ान भर चुकी होगी, बैंकाक के लिये – तुम्‍हारे गंतव्‍य की ओर।

हमने प्रातः १.३० मिनट पर एक दूसरे से बिदा ली, यही वो आखिरी पल था जो हमने साथ बिताया। तुम चली गई – मुझे ठिठुरते एकान्‍त और नीली तनहाई में छोड़कर। मेरी जिन्‍दगी, दुख होता है कहने में, फिर से दुःखों के गहरे समन्‍दर में लौट आई है। जिन्‍दगी कितनी क्रूर है। मैं तुम्‍हें फिर से कब देखूंगा?

अब तुम थाईलैण्‍ड में हो, मगर मैं अभी भी भारत में हूँ, विभिन्‍नताओं और विरोधाभासों की धरती पर हमारे जिस्‍म एक दूसरे से जुदा हैं मगर मुझे उम्‍मीद है कि हमारे दिल एक ही हैं। यह सोचकर मैं परेशान हो जाता हूँ कि क्‍या तुम अब भी मुझसे प्‍यार करती हो और तुम्‍हें मेरी जरूरत है। जीवन का सत्‍य तो यह है कि एक न एक दिन हमें जुदा होना ही है। अपने से दूर जाते हुए तुम्‍हें मैं न रोक सकूंगा। तुम ‘तुम’ हो और मैं ‘मैं’ हूँ। असल में हम दो अलग-अलग व्‍यक्तित्‍व हैं और प्रकृति के नियमों से शासित है। थाईलैण्‍ड पहुँचने पर भगवान तुम पर कृपा करे।

मगर याद रखना, मेरी प्‍यारी, कि तुम चाहे जो भी करो, और जहाँ भी जाओ मेरे खून और मेरी रूह में तुम हमेशा रहोगी। स्‍थल और समय हमें जुदा तो कर सकते हैं, मगर मेरे वफ़ादार दिल में तुम हमेशा रहोगी। और मैं तुमसे वादा करता हूँ जिन्‍दगी भर के लिये प्रेम और स्‍नेह का।

Share with:


5 1 vote
Article Rating

Charumati Ramdas

I am a retired Associate Prof of Russian. I stay in Hyderabad. Currently keep myself busy with translations of Russian works into HIndi.
2 Comments
Newest
Oldest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Navneet Bakshi
Navneet Bakshi
30 days ago

लेकिन यह लिखी किसी रशियन ने है क्या कि आप किसी अंग्रेजी पुस्तक की कहानियाँ अब अनुवाद कर रही हैं?

Random Posts

Placeholder Image 90

Thewriterfriends.com is an experiment to bring the creative people together on one platform. It is a free platform for creativity. While there are hundreds, perhaps thousands of platforms that provide space for expression around the world, the feeling of being a part of fraternity is often lacking. If you have a creative urge, then this is the right place for you. You are welcome here to be one of us.

Random Posts

Fire On A Crude Oil Tanker Named- M.T. New Diamond

By Navneet Bakshi | September 6, 2020

Fire is one of the fearsome enemies of the sailors. Although the ships are equipped with full gear for fighting fire and it is kept in state of readiness, and the ship’s crew is trained to handle the fire, yet the fires on ships occur at frightening regularity. Regular drills are carried to keep the…

Share with:


Read More

सिर्योझा – 13

By Charumati Ramdas | February 23, 2021

लेखिका: वेरा पनोवा अनुवाद: आ. चारुमति रामदास अध्याय 13   समझ से परे   आख़िर सिर्योझा को बिस्तर से उठने की इजाज़त मिल गई, और फिर घूमने फिरने की भी. मगर घर से दूर जाने की और पड़ोसियों के घर जाने की इजाज़त नहीं थी : डरते हैं कि कहीं फिर उसके साथ कुछ और…

Share with:


Read More

Central Government Approves Underwater Research on RAMA SETHU

By Suresh Rao | January 25, 2021

The government has approved an underwater research project to ascertain the origins of the Ram Setu — a 48-km-long chain of shoals between India and Sri Lanka. (Source of News ‘Divya A at Indian Express.’) Talking about the aim of the exploration, Union Minister of State for Tourism and Culture, Prahlad Singh Patel, said, “The…

Share with:


Read More

The Shipping Trap

By Navneet Bakshi | August 16, 2020

A sailor friend has shared a beautiful video from NASDAILY, highlighting the very basic problem of ownership of blame in the Shipping Industry. The video talks of two recent incidents two bring home the point. 1st incident that it speaks of is of a Japanese Ship M.V. WAKASHIO that has run aground near Mauritius. The…

Share with:


Read More

वड़वानल – 51

By Charumati Ramdas | August 23, 2020

लेखक: राजगुरू द. आगरकर अनुवाद: आ. चारुमति रामदास ‘‘चार बज गए। अरुणा आसफ़ अली अभी तक क्यों नहीं आईं ?’’ गुरु ने पूछा । ‘‘निर्णय तो नहीं बदल दिया ?’’ बोस ने पूछा । ‘‘फ़ोन करके देखो ना ?’’ मदन ने सुझाव दिया । ‘‘पिछले पन्द्रह मिनट से फ़ोन कर रहे हैं, मगर कोई फ़ोन…

Share with:


Read More

Ancient Hindu Culture in Bali (Indonesia) Cambodia and Thailand

By Suresh Rao | July 22, 2021

Exotic Bali islands of Southeast Asia are part of Indonesia and the westernmost of the lesser Sunda Islands. Bali can be located east of Java and west of Lombok; Bali province of Indonesia includes the island of Bali and a few smaller neighbouring islands, notably Nusa Penida, Nusa Lembongan, and Nusa Ceningan. Look for Bali,…

Share with:


Read More

वड़वानल – 39

By Charumati Ramdas | August 12, 2020

लेखक: राजगुरू द. आगरकर अनुवाद: आ. चारुमति रामदास     नाश्ते के लिए वे मेस में गए । हमेशा की तरह लम्बी कतार थी । ‘‘पहेण   दी…   त्वाडे मा दी…   साले   दो   काउन्टर   क्यों   नहीं   शुरू   करते ?   हरामी, साले!’’    अश्लील    गालियों    की    बौछार    करते    हुए    जी.    सिंह    पूछ    रहा    था । ‘‘काउन्टर  बढ़ाने  के …

Share with:


Read More

मैं अपना प्यार….

By Charumati Ramdas | August 5, 2022 | 0 Comments

Hello Friends! I have posted the Kindle version of this novel . Here’s the link…And it is free! Please download if you have Kindle Unlimited …   अपना प्यार मैं दिल्ली में छोड़ आया (Hindi Edition) eBook : P. Natthagarn , Dhirawit , Ramdas , A. Charumati : Amazon.in: Kindle Store Share with: 0 0…

Share with:


Read More

Wonder Woman is back in America!

By Suresh Rao | May 15, 2022

In these times of violence in movies (not to mention, gun-fights, sword fights, stone throwing, on the streets supported by political parties…) kids, teenagers (college going included,) need better entertainment on TV screens, at least during holidays. There is hardly any family entertainment lately on TV screens for us to sit in front of TV……

Share with:


Read More

Rudakov’s Micro Stories

By Charumati Ramdas | July 28, 2020

  Rudakov’s Stories of 72 Words Each Writer: Sergei Nosov Translated from Russian by A. Charumati Ramdas   Seventh Digit Lucky…She, definitely, didn’t eat them, as strictly required by law, but always displayed them – every tram-ticket went through verification. Did it mechanically: before dumping the ticket into purse, added the first three and the…

Share with:


Read More